Poetic Verses

आटा की चक्की

गाँव की एक अनपढ़ महिला
ने मुझसे पूछा
सुना है अमेरिका ने
आटा चक्की को पेटेंट
करा लिया है
बेटा, इससे क्या होता है
मैंने बताया
देखो अम्मा
अब हमें आटा चक्की
खोलने से पहले
उनकी उनकी इजाजत लेनी होगी
वह भड़क गई
ऐसा कैसे हो सकता है
यह तो हमारे पुरखों की अमानत है
मैंने सोचा
गाँव की एक अनपढ़
महिला भी यह सोचती है
पर पता नहीं ऊपर बैठे
पढ़े-लिखों को कब चेत आयेगा।
***कृष्ण कुमार यादव***


Comment On This Poem --- Vote for this poem
आटा की चक्की

10,331 Poems Read

Sponsors